spot_img
Monday, May 27, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

Eyes Care: अब गर्मी में आंखें नहीं होंगी खराब, आयुर्वेद के ये नुस्खे हैं बेहद असरदार

Eyes Care: गर्मी के मौसम में आंखों में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में अपनी आंखों का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। गर्मियों में हवा में छोटे-छोटे धूल के कण होते हैं, जो हमारी आंखों को नुकसान पहुंचाते हैं। वहीं, डिजिटल युग में मोबाइल और लैपटॉप का इस्तेमाल भी आंखों को नुकसान पहुंचाता है।

गर्मी के साथ-साथ गैजेट भी हमारी आंखों को नुकसान पहुंचाते हैं। इससे सिरदर्द, जलन या आंखों से पानी आने की समस्या हो सकती है। लेकिन गर्मी के मौसम में आंखों से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए आयुर्वेद भी काफी फायदेमंद हो सकता है।

पित्त दोष

आयुर्वेद के अनुसार आंखों का संबंध पित्त दोष से होता है। यह पाचन अग्नि और मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करता है। जब शरीर में पित्त का संतुलन बिगड़ जाता है तो आंखों से जुड़ी कई समस्याएं होने लगती हैं। आइए हम आपको आयुर्वेद के कुछ टिप्स बताते हैं, जो आंखों को स्वस्थ रखेंगे।

पानी के छींटे मारे

अपने दिन की शुरुआत आंखों में ठंडे पानी के छींटे मारकर करें। इससे आंखों में जमी गंदगी साफ हो जाती है और आंखों की चिकनाई के लिए जिम्मेदार ग्रंथियां एक्टिव हो जाती हैं।

ठंडी सिकाई करें

अपनी आंखों के पास केमिकल मेकअप उत्पादों का प्रयोग न करें। इसकी जगह आप आयुर्वेदिक काजल या मेडिकेटेड आईलाइनर का विकल्प चुन सकती हैं।

तेज धूप के संपर्क में आना

तेज धूप के संपर्क में आने से भी आंखों की समस्या हो सकती है। सूरज की यूवी किरणों से आंखों में एलर्जी या इंफेक्शन होने का खतरा रहता है। ऐसे में धूप का चश्मा पहनकर ही बाहर निकलें।

गुलाब जल और खीरा

अपनी आंखों को आराम और साफ करने के लिए रोजाना 10 मिनट के लिए गुलाब जल में भिगोए हुए कॉटन पैड को अपनी आंखों पर लगाएं, जिससे काले घेरे होने की संभावना कम हो जाएगी। इसके अलावा खीरे के टुकड़े भी आंखों को ठंडक पहुंचाते हैं।

अपने आप को हाइड्रेटेड रखें

अपनी आंखों को स्वस्थ रखने के लिए खुद को हाइड्रेटेड रखना जरूरी है। आपको दिन भर में पर्याप्त पानी पीना चाहिए। इसके अलावा रसदार फल, हर्बल चाय और जूस का सेवन करें। इससे आंखों का सूखापन दूर हो जाएगा।

क्लोरीनयुक्त पानी से बचें

क्लोरीन (स्विमिंग पूल में पाया जाने वाला) भी गर्मी के दौरान आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए, क्लोरीन के संपर्क में आने से होने वाली सूजन, जलन और खुजली से अपनी आंखों को बचाने के लिए स्विमिंग चश्मा पहनने की सलाह दी जाती है।

स्वस्थ आहार

इसके अलावा हमारे खान-पान का भी हमारी आंखों पर काफी असर पड़ता है। अपने आहार में फल और सब्जियाँ शामिल करें। फलों और सब्जियों में ल्यूटिन और ज़ेक्सैन्थिन जैसे रसायन होते हैं। इनमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट मोतियाबिंद और मैक्यूलर डिजनरेशन जैसी आंखों की बीमारियों से बचा सकते हैं।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts