spot_img
Saturday, May 25, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

जब पाकिस्तानियों ने लडाई खत्म करने के बदले मांगी थी माधुरी दीक्षित, उनकी इन अदाओं पर दुश्मन भी थे फिदा

Happy Birthday Madhuri Dixit: माधुरी दीक्षित के चाहने वालों की लिस्ट इतनी लंबी है कि उनकी खूबसूरती के चर्चे सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हैं। पड़ोसी देश पाकिस्तान में भी उनके प्रशंसक हैं। आम लोगों के साथ-साथ कई सेलिब्रिटीज भी माधुरी की फैन लिस्ट में शामिल हैं। जाने-माने पेंटर एमएफ हुसैन माधुरी के इतने बड़े फैन थे कि उन्होंने फिल्म ‘हम आपके हैं कौन’ 67 बार देखी थी।

क्या किसी कलाकार के लिए इस मुकाम तक पहुंचना इतना आसान है, शायद नहीं। 90 के दशक की टॉप एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित के 57वें जन्मदिन पर हम उनकी पर्सनैलिटी के बारे में बात करने जा रहे हैं। आख़िर उनमें ऐसा क्या खास है जो उन्हें बाकी सब से अलग बनाता है? पाकिस्तानी सैनिकों ने कारगिल युद्ध ख़त्म करने के लिए क्यों मांगी थी माधुरी? क्या वाकई किसी की पर्सनैलिटी इतनी अच्छी हो सकती है कि दुश्मन को भी उससे प्यार हो जाए?

जब ‘कारगिल युद्ध’ से जुड़ा था माधुरी का नाम

बहुत कम लोग जानते हैं कि माधुरी दीक्षित का नाम कारगिल युद्ध से भी जुड़ चुका है। दरअसल, कारगिल युद्ध 1999 में मई के पहले सप्ताह में शुरू हुआ था, जो 26 जुलाई तक जारी रहा। इस युद्ध के दौरान कई ऐसी बातें हुईं जिनकी चर्चा आज भी की जाती है। ऐसी ही एक कहानी माधुरी से भी जुड़ी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, युद्ध के दौरान जब भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तान के कब्जे वाले ठिकानों को खदेड़ा तो दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने खड़े थे।

तभी पाकिस्तानी सैनिकों के बीच से आवाज आई कि “हमें माधुरी दीक्षित दे दो, हम चले जाएंगे।” फिर क्या था, उस वक्त भारतीय सेना में बटालियन के कैप्टन विक्रम बत्रा ने अपनी एके-47 से फायरिंग कर करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा, ”माधुरी की ओर से प्यार के साथ”। उन दिनों ये घटना खूब चर्चा में आई थी।

सुंदरता बरकरार रखी

माधुरी दीक्षित की फैन फॉलोइंग कितनी बड़ी है इसका अंदाजा ‘कारगिल युद्ध’ की कहानी से लगाया जा सकता है। लेकिन कहते हैं कि इंसान का व्यक्तित्व ही उसकी पहचान होती है. माधुरी ने भी अपनी खूबसूरती बरकरार रखी है. बी-टाउन में कदम रखने के बाद से लेकर आज तक एक्ट्रेस का लुक उन्हें सबसे अलग बनाता है।

चाहे उन्होंने कितना भी ग्लैमरस आउटफिट पहना हो, उसे कैरी करने का स्टाइल उन्हें एलिगेंट लुक देता था। इसलिए कपड़ों के ब्रांड से ज्यादा स्टाइलिंग का तरीका मायने रखता है कि आपने उसे कितनी शालीनता से पहना है। एक्ट्रेस की खूबसूरती उनकी खूबसूरती से और भी बढ़ जाती है।

आत्मविश्वास आज भी है कायम

धक-धक गर्ल माधुरी दीक्षित का कॉन्फिडेंस आज भी उन्हें बाकी एक्ट्रेस से अलग बनाता है। एक्ट्रेस बॉलीवुड के सफल सितारों में से एक हैं, लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि उनके करियर की शुरुआत में उनकी लगातार 7 फिल्में फ्लॉप हुईं। लेकिन एक्ट्रेस का कॉन्फिडेंस बिल्कुल भी कम नहीं हुआ। यही वजह है कि वह आज भी लगातार काम कर रही हैं और आगे बढ़ रही हैं।

माधुरी दीक्षित अतीत को भूलकर भविष्य के लिए काम करती हैं। उनकी खूबसूरती उनके काम में और भी ज्यादा झलकती है। एक आम आदमी को हमेशा अपने आत्मविश्वास पर ध्यान देना चाहिए, ताकि समय कोई भी हो, प्रदर्शन बेहतरीन बना रहे।

हार नहीं मानना

एक्ट्रेस की सबसे बड़ी खासियत ये है कि उन्होंने कभी हार मानना नहीं सीखा। परिस्थिति कैसी भी हो, उन्होंने उसका डटकर सामना किया। 90 के दशक में उनका नाम काफी समय तक संजय दत्त के साथ जुड़ा रहा, माधुरी ने उनके साथ तीन फिल्में ‘साजन’, ‘खलनायक’ और ‘थानेदार’ की और तीनों सुपरहिट रहीं। लेकिन उतार-चढ़ाव का असर एक्ट्रेस के काम पर कभी नहीं पड़ा।

अपने लिए तय किया रास्ता

दुनिया जो कहती है उसे छोड़कर जिंदगी में आगे बढ़ना कोई माधुरी दीक्षित से सीखे। जिन्होंने साल 1999 में कारियल की चोटी पर कार्डियो सर्जन श्रीराम नेने से शादी की थी। जिसके बारे में माधुरी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि जब मुझे अपने लिए जो सपना देखा था उसे पूरा करने का मौका मिला तो मैंने उसे पूरा किया। ऐसे में हर व्यक्ति को अपने सपनों को पूरा करने के लिए खुद फैसले लेने चाहिए।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts