spot_img
Monday, May 20, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

Parenting Tips : पेरेंट्स की इन 3 आदतों से बच्चे बनेंगे जीनियस

Parenting Tips: माता-पिता चाहते हैं कि उनका बच्चा जीवन में सफल और खुश रहे। लेकिन सफलता अपने आप नहीं मिलती, इसे पाने के लिए कड़ी मेहनत के साथ-साथ अपनी आदतों को भी बदलना पड़ता है। ऐसे में अगर आप भी अपने बच्चे का उज्जवल भविष्य चाहते हैं तो आज हम आपको कुछ ऐसी आदतें बताएंगे जिन्हें अपने बच्चों को सिखाने के लिए आपको खुद अपनाना होगा।

समय के साथ-साथ बच्चों के पालन-पोषण का तरीका भी बदलता जा रहा है। आज के समय में माता-पिता को अपने बच्चों को समझाने और उनसे सोच-समझकर बात करने के लिए कई तरीके अपनाने पड़ते हैं। क्योंकि बच्चा उनकी हर आदत और बात को कॉपी करता है। ऐसे में अगर आप भी अपने बच्चे के उज्जवल भविष्य को लेकर चिंतित हैं। इसलिए बच्चों को कुछ बातें बचपन से ही सीखनी चाहिए।

डिसिप्लिन

आप सभी ने सुना होगा कि अनुशासन ही जीवन की कुंजी है। जिससे हमें सभी काम समय पर करने और सफलता प्राप्त करने में मदद मिलती है। इसलिए बच्चे को डिसिप्लिन सिखाने से पहले माता-पिता को उनके शेड्यूल पर ध्यान देना होगा। आजकल माता-पिता खुद अपने बच्चों के सामने बैठकर मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते रहते हैं और फिर अपने बच्चों को मोबाइल फोन का कम इस्तेमाल करने के लिए कहते हैं। माता-पिता स्वयं खूब बाहर का खाना खाते हैं, ऐसे में बच्चों में स्वस्थ खान-पान की आदतें कैसे विकसित होंगी? इसलिए सबसे पहले अपने शेड्यूल पर ध्यान दें। नियमित व्यायाम करना, स्वस्थ भोजन करना, समय पर काम पूरा करना और समय पर सोना और जागना। जब आप खुद इन आदतों को अपनाएंगे तभी आपका बच्चा भी आपका अनुसरण करेगा।

कॉन्फिडेंस

सफलता पाने में आत्मविश्वास बहुत अहम भूमिका निभाता है। इंसान को जीवन से जुड़े फैसले लेने और अपनी बात समझाने में आत्मविश्वास का होना बहुत जरूरी है। इसलिए अगर बच्चा किसी भी तरह की गलती करता है तो उसे पहले डांटें नहीं बल्कि धीरे से समझाएं। क्योंकि बच्चों को ज्यादा डांटने से उनमें आत्मविश्वास की कमी हो जाती है। बच्चे के विचारों और भावनाओं को भी महत्व दें। उन्हें अपने विचार व्यक्त करने और समझाने का मौका दें।

लर्निंग की आदत

बच्चे को नई चीजें सीखने के लिए प्रोत्साहित करें। बच्चे के व्यक्तित्व को निखारने के लिए पढ़ाई के साथ-साथ कला, खेल और अन्य प्रकार की गतिविधियां भी जरूरी हैं। उदाहरण के लिए, यदि आपके बच्चे पेंटिंग, संगीत, नृत्य या किसी भी प्रकार के खेल में रुचि रखते हैं। तो आप इसके लिए क्लासीस प्रदान करके उनके शौक को और विकसित करने में मदद कर सकते हैं। इससे बच्चे के व्यक्तित्व के विकास में मदद मिल सकती है। बच्चे को साफ-सफाई या उससे जुड़े छोटे-मोटे काम भी सिखाएं। ताकि उन्हें जिम्मेदारी का एहसास हो।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts