spot_img
Saturday, March 2, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद के नाम पर टीचर का किया था सिर कलम, 3 साल बाद 6 छात्र दोषी करार, लेकिन नहीं होगी किसी को जेल

फ्रांस में बीते 16 अक्टूबर 2020 को एक टीचर सैमुअल पैटी का गला काटकर सिर से अलग कर दिया गया था। जैसे ही टीचर स्कूल के गेट से बाहर निकलता है। 18 साल का लड़का उनका पीछा करते ही उन पर हमला कर देता और उनका सिर धड़ से अलग कर देता है। इस मामले में फ्रांस ने 6 लोगों को दोषी करार दिया है, लेकिन किसी की सजा नहीं मिलेगी यानी की जेल नहीं भेजा जाएगा।

पैंगबर मोहम्मद के कार्टून बनाने पर की थी हत्या
बता दें कि हत्या की वजह पैगंबर मोहम्मद के कार्टून को लेकर बताया जा रहा था। हमलावर फ्रांसीसी-मुस्लिम था। टीचर ने अपने क्लास में पैगंबर मोहम्मद को दर्शाने वाला कैरिकेचर दिखाया था। वो क्लास अभिव्यक्ति की आजादी पर चल रही थी। जिसके बाद वो वारदात हुई थी। जांच में सामने आया कि 6 किशोर इस घटना में शामिल थे। जिसे फ्रांस की कोर्ट ने दोषी ठहराया दिया है।
पूरी दुनिया में हुई थी इस घटना की निंदा
इस घटना में एक लड़की भी शामिल थी जिसने कथित रूप से टीचर के बारे में गलत जानकारी फैलाई की थी। उस समय इस हत्याकांड की पूरी दुनिया में निंदा हुई। फ्रांस के प्रेसिडेंट इमैनुअल मैक्रों ने इसे आतंकी हमला बताया था। भारत ने भी इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि हम फ्रांस में शिक्षक पर हुए आतंकी हमले की निंदा करते हैं।
दोषी करार लेकिन नहीं जाना होगा जेल
अब 3 साल बाद इस मामले में 6 किशोरों को दोषी करार दिया गया है। लेकिन उन्हें जेल नहीं भेजा जाएगा। क्योंकि उस समय ये सभी 14 से 15 साल के थे। कोर्ट ने उन्हें दो साल तक की सजा सुनाई लेकिन सजा को या तो सस्पेंड कर दिया गया है या उसमें बदलाव किया गया है। फ्रांस की यूथ कोर्ट ने साफ कर दिया है कि उनमें से किसी को भी जेल नहीं जाना होगा।
ये था पूरा मामला
अक्टूबर 2020 में क्लासरूम में टीचर सैमुअल द्वारा पैगंबर मोहम्मद से जुड़े कुछ कार्टून दिखाए जाने की बात तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। इसके बाद सैमुअल के खिलाफ कैंपेन शुरु हो गया। सैमुअल की हत्या के बाद अंजोरोव ने कबूल किया कि उसने टीचर की हत्या की है। आरोपी ने बताया था कि सैमुअल ने पैगंबर मोहम्मद का अपमान किया था। मैंने इस अपमान की बदला ले लिया है। फ्रांस अपने आपको अभिव्यक्ति की आजादी का सबसे बड़ा रक्षक मानता है। वहां किसी व्यक्ति के खिलाफ कार्टून छापना आम बात माना जाता है।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts