spot_img
Saturday, March 2, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

पाकिस्तान के पूर्व PM नवाज शरीफ बोले- भारत से रिश्ते सुधारना बेहद जरूरी, कारगिल जंग का विरोध किया तो हटा दिया गया

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भारत को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि इस समय भारत से रिश्ते सुधारना बेहद जरुरी है। पूर्व पीएम ने कारगिल युद्ध को लेकर भी कई सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने बताया कि कारगिर वार का विरोध करने के चलते जनरल परवेज मुशर्रफ ने उन्हें सत्ता से हटा दिया था।

कारगिल युद्ध पर नवाज शरीफ ने बोली बड़ी बात
लाहौर में नवाज शरीफ ने आगामी आम चुनाव के लिए अपनी पार्टी के टिकट के दावेदारों से बात कर रहे थे। उसी दौरान उन्होंने कहा कि मैं जानना चाहता हूं कि 1993 और 1999 में मुझे सत्ता से क्यों हटा दिया गया था। उन्होंने कहा कि 1999 में जब मैंने कारगिल प्लान का ये कहते हुए विरोध किया कि ऐसा नहीं होना चाहिए तभी जनरल परवेज मुशर्रफ ने उन्हें बाहर कर दिया था और बाद में मेरी बात सही साबित हुई।

भारत से रिश्ते सुधारना बेहद जरूरी
उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने उस समय हर क्षेत्र में काम किया था। मेरे कार्यकाल के दौरान भारत के दो प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और नरेंद्र मोदी पाकिस्तान आए थे। उन्होंने कहा कि हमें इस समय भारत से रिश्ते सुधारने बहुत जरुरी है। इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि चीन से रिश्ते और मजबूत करने की जरूरत है और ईरान व अफगानिस्तान से रिश्ते ठीक करने की जरूरत है।

इमरान खान पर जमकर साधा निशाना
पूर्व पीएम इमरान खान पर निशाना साधते हुए कहा कि इमरान खान की सरकार के दौरान पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था पर भारी गिरावट आई और महंगाई आसमान छूने लगी। खान को लेकर कहा कि कैसे बिना अनुभव वाले शख्स के हाथ में पाकिस्तान की सत्ता दे दी गई। फिर शाहबाज शरीफ ने अप्रैल 2022 में सत्ता संभाली और देश को कंगाल होने से बचाया।
नवाज शरीफ ने कहा कि मैं चाहता हूं कि पूर्व मिलिट्री जनरल और जज 2017 में मुझे सत्ता से हटाए जाने के कारण बताएं। उन्होंने कहा कि हम यहां ताकत के लिए या महंगी कार में घूमने के लिए सरकार नहीं बनाना चाहते हैं। बता दें कि इसी साल फरवरी में आम चुनाव होंगे।

लाहौर हाईकोर्ट ने रद्द की थी नवाज की सजा
साल 2018 में कोर्ट ने नवाज शरीफ को अल-अजीजिया स्टील मिल्स भ्रष्टाचार मामले में दोषी ठहराया था और 7 साल की सजा सुनाई थी। इसके अलावा एवनफील्ड प्रॉपर्टी मामले में उन्हें 11 साल की सजा सुनाई गई थी और 80 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया गया था। फिर 16 नवंबर 2019 को लाहौर हाईकोर्ट ने नवाज की सजा रद्द करते हुए उन्हें इलाज के लिए विदेश जाने की इजाजत दी थी।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts