spot_img
Wednesday, July 10, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

सब्जियों के दामों में लगी आग, आलू ने भी दिखाए तेवर, महंगाई से लोग परेशान

Food Inflation: एक तरफ आसमान से बरस रही आग से लोगों को जीना मुहाल हो गया है तो वहीं सब्जी के दामों में भी आग लगी हुई है। महंगाई की मार झेल रहे लोग अब हरी सब्जियों के साथ ही सब्जियों के राजा आलू की बढ़ती कीमतों से पसोपेश में हैं। हरा धनिया, आलू के भाव इन दिनों आसमान छू रहे हैं। बाजार में फुटकर में आलू 30 से 35 रुपए प्रति किलो में बिक रहा है। वहीं थोक में 2800 रुपए क्विंटल इसके भाव हैं।

आम आदमी को एक बार सब्जी खरीदने में 150 से 200 रुपए खर्च करने पड़ रहे हैं। गौरतलब है कि अब आलू खरीदने में आम लोगों के पसीने छूट रहे हैं। वहीं किसी मांगलिक कार्यक्रम अथवा उत्सव में आलू की बढ़ती खपत आग में घी डालने का काम कर रही है। इसके बगैर भोजन का जायका ही फीका सा रह जाता है।

ऐसे में आलू खरीदना लोगों की मजबूरी है। आलू की बढ़ती हुई कीमतों के चलते अब लोग एक बार में अधिक आलू न लेकर कम मात्रा में आलू खरीद रहे हैं। वहीं दूसरी ओर जैसे-जैसे गर्मी बढ़ रही है, वैसे-वैसे हरा धनिया भी महंगे भाव बिक रहा है। इन दिनों हरा धनिया 200 रुपए किलो तक बिक रहा है। वहीं नींबू के भाव 40 से 45 रूपये दर्जन तक पहुंच गए हैं।

सब्जियों के भाव से बजट गड़बड़ाया

गत एक माह से पड़ रही गर्मी से सब्जियों के भाव आसमान छूने लगे हैं। इससे घरों का बजट गड़बड़ा गया। लगातार गर्मी और तेज धूप से सब्जियों की पौध झुलस गई। इससे हरी सब्जियों के भाव एक माह में दोगुने हो गए। कुछ सब्जियों के भाव 80 रुपए किलो तक पहुंच गए हैं। दाम बढ़ने से हरी सब्जियां थाली से दूर हो गई हैं।

थोक फल-सब्जी मंडी के व्यापारी बताते हैं कि इन दिनों अदरक 160, धनिया 200 रूपये किलो और नींबू 40 से 45 रुपए दर्जन, गिलकी 60 और हरी मिर्च 80 रुपए प्रति किलो तक बिक रहे हैं। सिर्फ आलू, प्याज व टमाटर हैं, जो अभी 40 रुपए किलो से कम है।

आखिर किस कारण से बढ़ रहे आलू के दाम

आखिर आलू के दाम इतने क्यों बढ़ रहे हैं इसको लेकर आलू व्यापारियों का कहना है कि पहली वजह तो यही है की आलू की डिमांड बहुत ज्यादा है, और इस बार आलू बाजार में उपलब्ध भी बहुत कम है, खेतों में इसके प्रोडक्शन पर भी पड़ा है।

इस बार आलू का उत्पादन अच्छा नहीं हुआ है। इस बार गर्मी भी ज्यादा पड़ रही है और आलू खराब भी हो रहा है। उसकी वजह से जो नया आलू आ रहा है, उसकी क्वालिटी उतनी अच्छी नहीं है। ग्राहक अच्छी क्वालिटी के आलू की डिमांड कर रहे हैं। यह भी एक वजह है कि आलू के दाम बढ़ रहे हैं।

दाम बढ़ने से चिंता में गृहणियां

गृहिणी सुनीता व विमला बताती हैं कि अक्सर वो दो-तीन दिन में आलू खरीद लेती थीं, क्योंकि इससे अच्छे आलू भी मिल जाते थे और खराब भी नहीं होते थे। दाम भी बहुत ज्यादा नहीं थे, लेकिन इन दिनों वो लोग भी पशोपेश में है, क्योंकि जिस तरह से हर दिन आलू के दाम बढ़ रहे हैं। उससे अब उन्हें यह टेंशन हो रही है कि आने वाले समय में आलू के दाम और ना बढ़ जाए। वो चिंतित है कि ज्यादा आलू खरीदने में खराब होगा और नहीं खरीदने में दाम बढ़ेंगे।

आलू एक ऐसी सब्जी है कि घर में हर दिन लगती है, सबसे ज्यादा खपत आलू की है, और अगर दाम बढ़ जाएंगे तो किचन का बजट बिगड़ना तय है।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts