spot_img
Tuesday, June 25, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

Kissan GPT: अब किसानों की समस्या का बोलते ही होगा समाधान, अलग-अलग भाषाओं में कर सकते है बात

What Is Kissan GPT: अब किसानों की समस्या के समाधान के लिए अब चैट जीपीटी के जैसा ही किसान जीपीटी भी समाने आया है, जो बोलते ही तुरंत किसानों की समस्या का समाधान बता सकता है। इस किसान जीपीटी पर किसान अपनी फसलों से जुडी समस्याओं का हल पा सकते हैं।

क्या है किसान जीपीटी

चैट जीपीटी के आने के बाद कई कंपनियां चैट जीपीटी के जैसे ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर रिसर्च कर रही है। कुछ समय पहले ही चैट जीपीटी नाम का एक टूल लॉन्च हुआ था और अब इसके बाद किसान जीपीटी (Kissan GPT) नाम का टूल लाया गया है, जो स्पेशल तौर पर किसानों के लिए ही लाया गया है। इस चैट की मदद से किसान अपनी खेती से जुडी हर समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैं। इससे किसानों की इनकम में भी बढ़ोत्तरी होगी।

कैसे करेगा काम किसान जीपीटी?

किसानों के लिए लाया गया नया टूल किसान जीपीटी एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड चैटबॉट है, चैट जीपीटी 3.5 पर बेस्ड है और इसी तरह समस्याओं का समाधान करता है। किसान अपनी खेती से जुड़ी किसी भी समस्या का समाधान अपनी भाषा में बोलकर पा सकते हैं। 15 मार्च को प्रतीक देसाई ने चैट जीपीटी लॉन्च किया था और अब किसान जीपीटी लॉन्च किया है। आपको बता दें, प्रतीक देसाई एक कंप्यूटर वैज्ञानिक है, जो अनुभवी टेक्नोलॉजी और प्रोडक्ट एग्जीक्यूटिव हैं। किसान जीपीटी चैटबॉट को एक्सेस करने के लिए आपको https://kissangpt.com/ पर जाना होगा। यहां किसान 14 भाषाओं में बात कर सकते हैं।

कैसे करें एक्सेस

– किसान जीपीटी एक्सेस करने के लिए सबसे पहले इसकी वेबसाइट https://kissangpt.com/ पर जाना होगा
– इसके बाद आपको अपनी भाषा का चुनाव करना होगा।
– फिर चैटबॉट में जाकर अपनी समस्या बता सकते हैं।
– कुछ सेकेंडों में ये चैटबॉट आपको समाधान बता देगा।

ये लोग भी कर सकते हैं यूज

किसान जीपीटी को किसानों के अलावा कोई भी स्कूली बच्चा, रिसर्चर्स या अन्य कोई भी यूज कर सकता है। एक अपडेटेड ट्वीट में 31 मार्च को प्रतिक देसाई ने बताया था कि वे जल्द ही किसान जीपीटी को गवर्नमेंट और एग्रीकल्चर इंस्टीटूशन के साथ जोड़ेंगे। इसके लिए एक ऐप तैयार किया जाएगा, जिससे लोगो को एक्सेस करने में आसानी होगी।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts