spot_img
Saturday, June 22, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

2028 तक Uttar Pradesh बन जायेगा 500 बिलियन डॉलर से अधिक की अर्थव्यवस्था, धार्मिक पर्यटन सहित इन क्षेत्र का होगा प्रमुख योगदान

अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर के उद्घाटन और केंद्र सरकार की प्रसाद पहल जिसका उद्देश्य भारत में धार्मिक पर्यटन को विकसित करना है जैसे कार्य उत्तर प्रदेश को 2024 के अंत तक पर्यटकों से 4 लाख करोड़ रुपये से अधिक अपनी अर्थव्यवस्था (Economy) में जोड़ सकने में मदद कर सकते हैं। जोकि बीते वर्ष की तुलना में लगभग दोगुना भी है।

यूपी के तीव्र विकास के बिना विकसित भारत का निर्माण मुमकित नहीं

उत्तरप्रदेश के बढ़ते महत्व पर प्रकाश डालते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने हाल ही में बुलदशहर (Bulandsehar)  में अपनी पहली लोकसभा चुनाव रैली कहा कि, उत्तर प्रदेश के तीव्र विकास के बिना विकसित भारत का निर्माण मुमकित नहीं है। मैंने अयोध्या में रामलला की उपस्थिति में कहा था कि प्राण प्रतिष्ठा का कार्य पूरा हो चुका है, अब देश की प्रतिष्ठा को नई ऊंचाई देने का समय है। हमें देव से देश और राम से राष्ट्र तक के मार्ग की ओर प्रशस्त करना है। हमारा लक्ष्य 2047 तक देश को विकसित भारत बनाना है। उत्तर प्रदेश के तीव्र विकास के बिना विकसित भारत का निर्माण भी संभव नहीं है।

SBI के आर्थिक अनुसंधान विभाग ने किया बड़ा दावा

बता दें कि भारतीय स्टेट बैंक (State Bank Of India) के आर्थिक अनुसंधान विभाग के एक अध्ययन के अनुसार आध्यात्मिक पर्यटन ने यूपी में पर्यटन की संभावनाओं को तेजी से बढ़ाया है क्योंकि बेहतर भौतिक और डिजिटल (Digital) बुनियादी ढांचे ने कनेक्टिविटी को सभी के लिए सुलभ बना दिया है।

घरेलू पर्यटकों की सूची में शीर्ष पर वहीं विदेशी पर्यटकों की सूची में नहीं है कम

2022 में सबसे अधिक घरेलू पर्यटक देखने वाले राज्यों की सूची में यूपी शीर्ष पर काबिज था। विदेशी पर्यटकों के मामले में यह पांचवें स्थान पर था। राज्य सरकार के अनुमान से पता चलता है कि 2022 में 32 करोड़ पर्यटकों ने यूपी का दौरा किया। जिसमें अकेले अयोध्या में 2.21 करोड़ पर्यटक आए। 2022 में घरेलू पर्यटकों द्वारा खर्च की गई राशि 2 लाख करोड़ रुपये से अधिक थी और इसके अलावा  विदेशी पर्यटकों द्वारा खर्च लगभग 10,500 करोड़ रुपये था।

एसबीआई (SBI) की रिपोर्ट में जानकारी दी गई है कि 2024 के अंत तक ये आंकड़े लगभग दोगुने हो जाएंगे, वित्त वर्ष 2025 के दौरान पर्यटकों की संख्या में भारी उछाल के कारण राज्य सरकार को 20,000-25,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त कर राजस्व अर्जित करने में मदद मिल सकती है।

अन्य क्षेत्रों में भी किया बेहतर प्रदर्शन

धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के अलावा, यूपी ने कृषि (Agriculture), उद्योग और सेवा (Service) क्षेत्रों में भी बड़ी प्रगति की है। रिपोर्ट में बताया गया है कि वित्त वर्ष 2013 में सेवाओं की बढ़ती हिस्सेदारी (11.7%) के साथ, भारत के सकल मूल्य वर्धित में यूपी की हिस्सेदारी 10% से अधिक थी, जबकि उद्योग और कृषि दोनों में इसकी हिस्सेदारी 8% से ऊपर थी।

ये भी पढ़ें- छठा बजट पेश करने के साथ ही निर्मला सीतारमण बनाएंगी नया रिकॉर्ड, पूर्व PM मोरारजी देसाई की करेंगी बराबरी, जानिए पूरी डिटेल

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts