spot_img
Sunday, June 23, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

Etawah: खजाना हासिल करने के लिए तांत्रिक ने बच्चे का सिर काटकर दी थी बलि, गिरफ्तार

Etawah News: उत्तर प्रदेश के इटावा में एक महीने पहले 8 साल के मासूम की अपहरण के बाद हुई हत्या का पुलिस (Etawah Police) ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने तीन आरोपियों लवकुश, मान सिंह और गंगा सिंह को गिरफ्तार किया है। आरोपी मान सिंह तांत्रिक है और उसने बताया कि जंगल में गड़े हुए खजाने को पाने के लिए उसने साथियों के साथ मिलकर बच्चे की बलि दी थी। पुलिस ने आरोपियों को जेल भेज दिया है।

क्या था पूरा मामला?

जसवंतनगर थाना क्षेत्र में गांव सिरसा की मड़ैया निवासी मुलायम सिंह का बेटा ओमजी उर्फ लकड़ो 14 अप्रैल को घर के बाहर से खेलते समय लापता हो गया था। पिता ने बताया कि 14 अप्रैल को सुबह 10 बजे के आसपास ओम घर से गांव के बच्चों के साथ खेलने के लिए निकला था।

जब वह काफी देर तक वापस नहीं लौटा तो हम लोगों ने उसे ढूंढने का प्रयास किया, लेकिन कोई जानकारी नहीं मिली। उसके बाद हमने पुलिस को मामले की जानकारी दी। पुलिस ने भी ओम की तलाश की, लेकिन वो नहीं मिला। 19 अप्रैल को घर से 500 मीटर की दूरी पर जंगल में एक गड्ढे में ओम का गला कटा शव कचरे के ढेर में दबा हुआ मिला था। इस घटना से गांव में कोहराम मच गया था।

परिजनों ने 3 लोगों पर लगाया था हत्या का आरोप (Etawah Murder)

घटना के बाद ओमजी के परिवार वालों ने ही इन तीनों आरोपियों के ऊपर तंत्र क्रिया के चलते उनके बेटे की अपहरण कर हत्या का आरोप लगाया था। पुलिस ने एक आरोपी लवकुश जोकि आगरा जिले का निवासी और अपनी ननिहाल में आया था। उसको उसी समय गांव से छुरी समेत गिरफ्तार कर लिया था। वहीं दूसरे आरोपी मान सिंह जोकि इस घटना का मुख्य आरोपी बताया जा रहा है, उसने एक सप्ताह पूर्व कोर्ट में सरेंडर कर दिया और तीसरे आरोपी गंगा सिंह को पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल छुरा सहित गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपी तांत्रिक का कबूल नामा

etawah-tantrik-had-sacrificed-a-child-by-cutting-off-his-head-to-get-the-treasure-arrested

तांत्रिक मान सिंह ने बताया कि हमें पता चला था कि जंगल में खजाना गढ़ा है। उसे पाने के लिए पूजा करनी होगी। इसके लिए एक छोटे बच्चे की बलि देनी होगी। फिर हमने इसमें दो लोगों मान सिंह और लवकुश को खजाने का लालच देकर शामिल किया। हम लोगों ने मिलकर प्लान बनाया।

इसके बाद गांव के ही मुलायम सिंह के बेटे ओमजी के बच्चे को उठाने की प्लानिंग की। क्योंकि लवकुश मुलायम सिंह के पड़ोस में रहता था। इसलिए बच्चा उसे जानता था। 14 अप्रैल की सुबह 10 बजे ओमजी घर के बाहर खेल रहा था। लवकुश उसे बहला-फुसला कर अपने साथ ले आया। पूरा दिन हम लोगों ने बच्चे को अपने साथ रखा। फिर रात में बच्चे को लेकर जंगल में गए। जहां खजाना गढ़ा था।

पूजा पाठ के बाद चाकू से काटा सिर

तांत्रिक मान सिंह ने बताया कि हम लोगों ने जंगल में पूजा पाठ की। इसके बाद बच्चे का चाकू से सिर काट दिया। उसके बाद बच्चे के शव को पास में झाड़ियों में फेंक दिया। पांच दिन जब बच्चे की लाश मिली तो पुलिस ने लवकुश को शक के आधार गिरफ्तार कर लिया। उसने हत्या की बात कबूल ली। इसी के डर से हमने भी 8 मई को कोर्ट में सरेंडर कर दिया।

लवकुश ने पूछताछ में गंगा सिंह और मुख्य आरोपी मान सिंह का नाम बताया था। मानसिंह पिछले सप्ताह 8 मई को कोर्ट में सरेंडर करके हाजिर हो गया। बुधवार को पुलिस ने गंगा सिंह निवासी सिरसा की मढ़ैया को गिरफ्तार लिया। पूछताछ में पता चला कि जंगल में गड़ा खजाना पाने के लिए बच्चे की बलि दी गई थी। मानसिंह तंत्र-मंत्र करता है, जल्द ही उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। उन्होंने बताया कि तीनों के खिलाफ गैंगस्टर की भी कार्रवाई की जाएगी।
– संजय कुमार वर्मा, एसएसपी इटावा

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts