spot_img
Tuesday, July 9, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

चिता पर रखे सगे भाइयों के शव उठा ले गई पुलिस, संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के बाद फिर होगा पोस्टमार्टम 

Farrukhabad News: फर्रुखाबाद के जहानगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत बुधवार रात दो भाइयों के शव नलकूप के कुएं में मिले थे। परिजन दोनों के शव निकालकर घर ले गए थे। बाद में पुलिस ने दोनों का पोस्टमार्टम कराया था। पीएम रिपोर्ट में दोनों के सिर में चोट होने की वजह से मौत होने की बात सामने आई थी। परिजन दोनों के शवों को पांचाल घाट पर अंतिम संस्कार के लिए ले गए। इस दौरान पुलिस फिर वहां पहुंची और वहां से दोनों के शव ले आई और दोनों का दोबारा से पोस्टमार्टम किया गया।

जहानगंज थाना क्षेत्र के गांव बंथलशाहपुर निवासी गुलाब अपने भाई अजीत के साथ बुधवार चार बजे मक्का की फसल काटने गया था। देर रात को दोनों भाइयों के शव खेत के पास कुएं में मिले थे। पिता की तहरीर पर पुलिस (Farrukhabad Police) ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया था।

दोनों भाइयों के कहीं भी चोट नहीं आई थी, लेकिन पोस्टमार्टम में दोनों की मौत का कारण सिर पर आई गंभीर चोट होने की वजह से बताई गई। परिजन दोनों भाइयों के शवों को लेकर पांचाल घाट स्थित स्वर्गधाम पर पहुंचे। लकड़ियां रखने के बाद दोनों भाइयों के शव चिता के ऊपर रख दिए गए।

मुखाग्नि से पहले दोनों शवों को उठा ले गई पुलिस

उसी दौरान एसओजी प्रभारी जितेंद्र पटेल सिपाहियों के साथ मौके पर पहुंचे और मुखाग्नि देने से पहले दोनों के शवों को उठाकर पोस्टमार्टम हाउस ले आए। पोस्टमार्टम हाउस में सीएमओ डॉ. अवनींद्र कुमार, सीओ मोहम्मदाबाद अरुण कुमार सहित फोर्स पहले से मौजूद था। दोनों भाइयों का पुन: पोस्टमार्टम कराने के लिए शवों को अंदर रखवा दिया गया।

विसरा सुरक्षित कर शव परिजनों को सौंपे

पोस्टमार्टम हाउस में डॉ. दीपक कटारिया और डॉ. विपिन के पैनल से दोबारा पोस्टमार्टम किया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पहले जैसा ही कारण निकला। पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी कराई गई। विसरा सुरक्षित कर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिए गए।

पुलिस भी असमंजस में

गुलाब बीसीए करने के बाद राजस्थान में प्राइवेट नौकरी कर रहा था। वह दस जून को पत्नी व बच्चे के साथ गांव आया था। गुलाब व भाई अजीत के शव (Farrukhabad Murder) कुएं में मिलने से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। पुलिस भी असमंजस में है कि दोनों की मौत कैसे हो गई।

बुधवार को गुलाब छोटे भाई अजीत के साथ मक्का की फसल काटने गया था। रात को दोनों के शव कुएं के अंदर मिले। लगभग 25 फिट गहरे कुएं में पानी की दो बोतलें रखी मिली। फसल काटते समय प्यास लगने पर पानी ठंडा रहे, इसको लेकर ही पानी की बोतलें अंदर रखी गई।

सिर में आई गंभीर चोटों से मौत की पुष्टि

कुएं में गैस रिसाव की बात भी नहीं पाई गई। कुएं के अंदर जो व्यक्ति बोतल रखेगा, वह उसको आसानी से बाहर भी निकाल लेगा। ऐसे में दोनों भाइयों के शव कुएं के अंदर मिलने की घटना हत्या की ओर ही इशारा कर रही है। पोस्टमार्टम में दोनों के सिर में आई गंभीर चोटों से मौत की पुष्टि हुई है। ऐसे में पुलिस भी असमंजस में है कि आखिर मौके पर ऐसा क्या हुआ कि दोनों भाइयों की मौत हो गई।

मोबाइल सर्विलांस पर लगाकर राज जानने का प्रयास

कुएं में हत्या करके फेंके गए दोनों भाइयों के शव मिलने की घटना ने पुलिस को भी झकझोर दिया है। दोनों भाइयों के मोबाइल कुएं की दीवार के ऊपर रखे मिले। दीवार पर दरांती रखी हुई थी। ऐसे में पुलिस दोनों के मोबाइल सर्विलांस पर लगाकर राज जानने का प्रयास कर रही है।

मक्का की फसल काटने गए थे दोनों भाई

farrukhabad-police-took-away-the-dead-bodies-of-brothers-kept-on-the-pyre-post-mortem-will-be-conducted-again-after-death-under-suspicious-circumstances

बटाई पर लिए नौ बीघा खेत में मक्का की फसल लगाई गई है। दोनों भाई बुधवार शाम चार बजे फसल काटने घर से गए थे। मौके पर महज पांच डिसमिल ही मक्का की फसल कटी पाई गई। जिसको काटने में दोनों भाइयों को महज आधा घंटा ही समय लगा होगा। ऐसे में कहीं ऐसा तो नहीं दोनों भाइयों की शाम पांच बजे के आस पास हत्या कर शव कुएं में फेंक दिए गए हों।

ये है पूरा मामला

जहानगंज कस्बे में मक्के की फसल काटने गए दो भाइयों की हत्या कर उनके शव कुएं में फेंक दिए गए। परिजन तलाशते हुए पहुंचे। दोनों के शव कुएं में पड़े मिले। एसपी सहित फाेरेंसिक टीम ने मौके पर जांच कर साक्ष्य एकत्र किए। पुलिस ने पिता की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। खुलासे के लिए पुलिस की चार टीमों को लगाया गया है।

रात 9 बजे तक घर नहीं पहुंचे दोनों

थाना क्षेत्र के गांव बंथलशाहपुर निवासी छविनाथ के पुत्र गुलाब (35), अजीत उर्फ दारा सिंह(23) बुधवार को घर से शाम चार बजे मक्के की फसल काटने खेत पर गए थे। गुलाब ने गांव के अरविंद के खेत में बंटाई पर मक्के की फसल की बुआई की थी। दोनों भाई रात नौ बजे तक घर वापस नहीं पहुंचे। ऐसे में पिता छविनाथ, भाई संजय, अशोक, करन दोनों भाइयों की खोज में निकले।

कुएं की दीवार पर रखे मिले दोनों के मोबाइल

उनके मोबाइल फोन पर कॉल की गई, लेकिन फोन रिसीव नहीं हो रहे थे। लगभग 12 बजे परिजन खेत के पास कुएं पर पहुंचे। दोनों के मोबाइल कुएं की दीवार पर रखे मिले। टार्च की रोशनी से कुएं में देखा, तो गुलाब व अजीत के शव अंदर पड़े दिखाई दिए। इससे पिता व तीनों भाई दहाड़े मारकर रोने लगे। सूचना पर एसपी विकास कुमार, सीओ मोहम्मदाबाद अरुण कुमार, एसओ भोलेंद्र चतुर्वेदी, एसओजी प्रभारी जितेंद्र पटेल सहित फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची।

पिता की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा

गुलाब व अजीत के शव कुएं से बाहर निकलवाए गए। कुएं के अंदर पानी की दो बोतलें रखी मिली। गुलाब के बाई आंख के पास चोट का निशान मिला। इसके अलावा दोनों भाइयों के शरीर पर कोई जाहिरा चोट नहीं पाई गई। पिता छविनाथ ने गांव में किसी से रंजिश होने की बात से इन्कार कर दिया। पुलिस ने छविनाथ की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया।

खुलासे के लिए पुलिस की 4 टीमों को लगाया

दोनों के शवों का पोस्टमार्टम कराया गया। सूत्रों के मुताबिक दोनों भाइयों के सिर पर आई गंभीर चोट लगने से मौत की पुष्टि की गई। एसपी विकास कुमार ने बताया कि दो भाइयों के शव कुएं के अंदर पड़े मिले हैं। मौके पर साक्ष्य एकत्र किए गए है। दोनों भाइयों के जाहिर चोट नहीं पाई गई है। खुलासे के लिए पुलिस की चार टीमों को लगाया गया है।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts