- विज्ञापन -
Home Crime Kanpur Murder: ‘घर बेचने नहीं दे रहा था तो 6 रॉड मारी’,...

Kanpur Murder: ‘घर बेचने नहीं दे रहा था तो 6 रॉड मारी’, कलयुगी पिता ने मकान के लिए बेटे की ली जान

8
kanpur-murder-when-son-refused-to-sell-the-house-father-killed-him

Kanpur Murder News: यूपी के कानपुर में पिता-पुत्र के रिश्ते को कलंकित करने वाला मामला सामने आया है, जिसमें पिता ने अपने खुद के बेटे को मार डाला। पुलिस कस्टडी में पिता ने कहा- बेटा मुझे घर नहीं बेचने दे रहा था, मैं क्या करता। रात में लोहे की राड से सिर पर 6 वार किए। मर्डर के बाद बॉडी को ठिकाने नहीं लगा सका। इसलिए किसी अन्य के द्वारा मर्डर किये जाने की कहानी गढ़ दी।

- विज्ञापन -

मृतक सुभाष की पत्नी ने ससुर और 2 देवरों पर ही हत्या (Kanpur Murder) का शक जताया था। 50 लाख के मकान के बंटवारे का विवाद था। पुलिस की पूछताछ के बाद पिता राकेश विश्वकर्मा ने कबूलनामा दे दिया।

हत्या के वक्त मायके में थी सुभाष की पत्नी

हनुमंत विहार के आशानगर में रहने वाले सुभाष विश्वकर्मा (45) पेशे से कारपेंटर थे। 20 जून की सुबह घर पर ही रक्तरंजित शव मिला था। सुभाष की हत्या तब हुई जब उसकी पत्नी नंद कुमारी और दो बच्चे 15 वर्षीय अंकित व 12 वर्षीय खुशबू के साथ मायके गई थीं। घर पर सिर्फ सुभाष और उनके पिता राकेश थे।

राकेश ने बताया कि दोनों छत पर सो रहे थे, देर रात सुभाष नीचे आ गया था, लेकिन उसकी मौत कैसे हुई उन्हें कुछ पता नहीं है। पति के मौत की जानकारी मिलते ही पत्नी नंद कुमारी अपने दोनों बच्चों के साथ मायके से ससुराल पहुंची थी।

घर पहुंचते ही नंद कुमारी ने सबसे पहले अपने ससुर राकेश और पति के दोनों भाइयों पर हत्या का आरोप लगाया था। इसके साथ ही हनुमंत विहार थाने में ससुर और पति के दोनों भाइयों सुधरी व नीरज के खिलाफ हत्या की एफआईआर दर्ज कराई थी। पुलिस ने संदेह के आधार पर पिता और दोनों भाइयों को हिरासत में लिया था।

50 लाख का मकान बेचने नहीं दे रहा था बेटा

कानपुर के डीसीपी साउथ ने बताया कि पहले पिता राकेश विश्वकर्मा ने बताया कि सभी लोग छत पर सोए थे। वो जब उठे और सीढ़ियों से नीचे आए, तब उन्होंने बेटे की लाश देखी। पुलिस ने प्रॉपर्टी विवाद पर जांच शुरू की। सामने आया कि 125 वर्ग गज का मकान है, जिसकी कीमत करीब 50 लाख रुपए बताई जा रही है।

राकेश के 2 बेटों ने बताया कि इस घर को बेचने की बात चल रही थी। पिता राकेश चाहते थे कि बंटवारा हो जाए। मगर भाई ऐसा नहीं चाहते थे। वह घर को बेचने नहीं दे रहे थे। इसके बाद पुलिस ने राकेश को हिरासत में लिया और पूछताछ की। सामने आया कि पिता ने ही प्रॉपर्टी बेचने में अड़ंगा लगा रहे बेटे का मर्डर किया था। पुलिस ने घर से ही लोहे की रॉड (साबड़) भी बरामद कर लिया।

अपनी पत्नी की मौत का जिम्मेदार बेटे को मानता था

हत्यारोपी पिता ने अपने बयान में यह भी बताया कि अपनी पत्नी की मौत (Kanpur Murder) का जिम्मेदार वह बेटे को मानता था। इसके साथ ही प्रॉपर्टी विवाद में अपना आपा खो बैठा और बेटे का मर्डर कर दिया।

बेटे को अक्सर धमकाता था पिता

पुलिस की जांच में सामने आया कि 13 मार्च को पत्नी कुसमा की कैंसर से मौत हो गई थी। राकेश बेटे सुभाष को पत्नी की मौत का जिम्मेदार मानता था। वह कहता था- मेरी पत्नी की मौत हुई है, तुमको भी जिंदा नहीं छोडूंगा।

मर्डर के बाद छत पर सो गया था पिता

19 जून की रात को सोने के बाद राकेश ने बेटे सुभाष पर साबड़ से ताबड़तोड़ वार करके हत्या कर दी थी। लाश को ठिकाने लगाने का कोई रास्ता नहीं मिला। इसके बाद नाटकीय ढंग से छत पर सो गया था और सुबह खुद ही पुलिस को सूचना दी। इतना ही नहीं खुद पूरी वारदात से अंजान बना रहा। लेकिन पुलिस की जांच में हत्याकांड का खुलासा हो गया। अब रविवार को हत्यारोपी को जेल भेजा जाएगा।

बहू और पोतों ने पिता पर लगाया आरोप

हत्याकांड की जानकारी मिलने के बाद मायके से ससुराल पहुंची नंद कुमार ने कहा- ससुर राकेश ने उनके पति की हत्या की है। 14 साल का बेटा अंकित भी रो-रो कर यही कह रहा था कि बाबा मेरे पापा को क्यों मार डाला। मकान के लिए पापा को मारने की क्या जरूरत थी। बाबा ने दोनों चाचाओं के इशारे पर पापा का मर्डर किया है। सारे रिश्तेदारों का भी राकेश पर हत्या का संदेह था। इसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की तो परत दर परत खुलती गई।

- विज्ञापन -