spot_img
Tuesday, July 9, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

लू के प्रकोप से बचने के लिए सिर्फ पानी नहीं है काफी, ये ड्रिंक आपको रखेंगी हाईड्रेट

दिल्ली समेत भारत के ज्यादातर हिस्सों में भीषण गर्मी और लू ने लोगों की परेशानियां बढ़ा दी हैं। दिल्ली और दूसरे राज्यों में लू की वजह से लोगों के मरने की खबरें आ रही हैं। लू को लेकर दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से एडवाइजरी जारी की गई है। आसमान से बरस रही आग की वजह से पिछले दिनों में मौतों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। लू का शिकार हुए कई मरीज वेंटिलेटर पर हैं और जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं। लू की वजह से हीटस्ट्रोक का खतरा बना रहता है। वैसे तो गर्मी से बचने के लिए ऐसा खाना खाने की सलाह दी जाती है जिसमें पानी की मात्रा ज्यादा हो।

लेकिन कुछ लोग पानी को ही इसका इलाज मान लेते हैं और उसे ही पीते हैं। लू और लू से बचने के लिए सिर्फ पानी पर निर्भर रहना सही नहीं है। भारत में कई ऐसी देसी चीजें मौजूद हैं जो शरीर को प्राकृतिक रूप से हाइड्रेट रखकर जानलेवा हालातों से बचा सकती हैं। आइए आपको बताते हैं कि किन चीजों के जरिए आप लू के बिगड़ते हालातों में भी खुद को सुरक्षित रख सकते हैं।

लू का कहर

मौसम विभाग ने दिल्ली समेत देश के ज्यादातर हिस्सों में लू को लेकर अलर्ट जारी किया है। गर्मी के कारण भारत ही नहीं बल्कि दूसरे देशों में भी लोगों की मौत हो रही है। हज यात्रा पर गए जायरीनों में से करीब 550 की मौत हीट वेव या गर्मी के कहर के कारण हो चुकी है। अत्यधिक गर्मी हमारे दिमाग को भी नुकसान पहुंचाती है। ऐसे में हम बेहोश हो जाते हैं या चक्कर आने लगते हैं। अगर दिमाग हीट वेव से प्रभावित हो जाए तो स्थिति जानलेवा हो सकती है। कहा जाता है कि जिस क्षेत्र का तापमान 40 डिग्री से ज्यादा हो और वहां गर्म हवाएं चल रही हों उसे हीट वेव कहते हैं।

सिर्फ पानी ही नहीं इन चीजों का भी करें सेवन

नारियल पानी का करें सेवन

हमें गर्मियों में नारियल पानी जरूर पीना चाहिए। यह शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स का संतुलन सही रखता है क्योंकि इसमें इनकी संख्या अधिक होती है। अगर इलेक्ट्रोलाइट्स कम होने लगे तो शरीर डिहाइड्रेट होने लगता है। इसलिए गर्मियों में नारियल पानी को वरदान माना जाता है। जिन लोगों को एसिड रिफ्लक्स की समस्या है उन्हें खाली पेट नारियल पानी पीना चाहिए। वैसे तो इसे पीने का सबसे अच्छा समय सुबह या दोपहर है।

सत्तू का पानी

भारत के ग्रामीण इलाकों में आज भी बाहर जाने से पहले सत्तू का पानी पिया जाता है। यह हमें ऊर्जा देता है और पेट की गर्मी को भी शांत करता है। इससे शरीर में हाइड्रेशन का स्तर बढ़ता है। सत्तू भुने हुए चने से बनता है। वैसे तो उत्तर प्रदेश और बिहार के ज़्यादातर इलाकों में इसे पराठे या लिट्टी बनाकर खाया जाता है। सत्तू का शरबत या इसका ड्रिंक गर्मी से राहत दिलाने वाला आइटम है।

नींबू का पानी

अगर आप बहार जा रहे हैं तो भी नींबू का पानी अपने साथ रखें। यह तुरंत शरीर को हाइड्रेट करता है और हीट वेव से भी बचाता है। नींबू में विटामिन सी होता है और इसके दूसरे तत्व हमें चक्कर, उल्टी और जी मिचलाने से दूर रखते हैं। हीट वेव से बचने के लिए रोज़ाना एक गिलास नींबू का पानी पिएं।

जलजीरा ड्रिंक

धनिया, जीरा, पुदीना और दूसरे मसालों से बनने वाला जलजीरा आज भी भारतीयों का पसंदीदा ड्रिंक है। यह हमारे पेट की गर्मी को शांत करता है और पाचन तंत्र को भी दुरुस्त रखता है। इसमें शामिल पुदीना हमारे पेट के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। इसे पीने के बाद शरीर भी तरोताजा महसूस करता है।

गन्ने का रस

हम भारतीयों के सबसे पसंदीदा गर्मियों के ड्रिंक गन्ने के रस को कैसे भूल सकते हैं। स्वाद में बेहतरीन गन्ने का रस सबसे सस्ते ड्रिंक्स में से एक है। भारत में हर गली-मोहल्ले में इसकी दुकान या ठेला मिल जाएगा।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts