spot_img
Tuesday, July 9, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

चेहरे की ये प्रॉब्लम शरीर की परेशानियों के हैं संकेत

चेहरा भी हमारे संपूर्ण स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ बताता है। अगर चेहरे पर पिंपल्स या अन्य समस्याएं हैं, तो ये स्वास्थ्य समस्याओं का संकेत हो सकते हैं। इन्हें नजरअंदाज करने की बजाय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने पर काम करना चाहिए। चेहरे की बनावट में बदलाव और त्वचा की रंगत में बदलाव समेत कई ऐसे संकेत हैं, जो बताते हैं कि हमारा शरीर किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है। लोग अपने चेहरे की समस्याओं को दूर करने के लिए काम करते हैं, लेकिन उन्हें पता नहीं होता कि उनका स्वास्थ्य खराब हो गया है। या परेशानी का सामना कर रहा है।

इस लेख में हम आपको चेहरे पर होने वाली कुछ सामान्य समस्याओं और स्वास्थ्य समस्याओं के बीच का कनेक्शन बताने जा रहे हैं। इन्हें नजरअंदाज न करें। साथ ही जानें कि किन उपायों के जरिए आप अपनी त्वचा और स्वास्थ्य को स्वस्थ रख सकते हैं।

त्वचा संबंधी समस्याओं को नजरअंदाज न करें

लोग लक्षणों को सामान्य मानने की गलती करते हैं, जबकि इसका मतलब यह नहीं है कि इसे हल्के में लिया जाए। ऐसा भी हो सकता है कि आपके शरीर के अंदर कोई बड़ी बीमारी या स्वास्थ्य समस्याएं पनप रही हों। दरअसल, चेहरे की विशेषताओं में बदलाव या त्वचा संबंधी समस्याएं भी शरीर के अंदर शारीरिक समस्या का संकेत हैं। इसलिए हमें हर 6 महीने में अपना रूटीन हेल्थ चेकअप जरूर करवाना चाहिए।

चेहरे पर इन समस्याओं को नज़रअंदाज़ न करें

चेहरे पर सूजन

अगर किसी के चेहरे पर लगातार सूजन बनी रहती है, तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। यह इस बात की ओर इशारा करता है कि आपको किडनी या लिवर की समस्या हो सकती है। इसके अलावा, यह थायरॉइड का भी संकेत है।

डार्क सर्कल

आंखों के नीचे काले घेरे चेहरे की खूबसूरती को खराब कर देते हैं। चेहरे पर यह समस्या थकान, एलर्जी या एनीमिया का संकेत है। अगर एनीमिया है, तो डॉक्टर की सलाह पर दवा और डाइट दोनों को सही तरीके से रूटीन का हिस्सा बनाना चाइये।

आंखों और त्वचा पर पीलापन

यह लिवर में गंभीर समस्या का संकेत है। पीलिया होने पर हमारी आंखें और त्वचा पीली हो जाती है। इसे नज़रअंदाज़ करने की गलती न करें।

मुंहासे और ऑयली त्वचा

त्वचा पर मुंहासे या फुंसी होना सामान्य बात है, लेकिन यह शारीरिक समस्याओं का भी संकेत है। अगर ऐसा हो रहा है, तो आपको हॉरमोनल असंतुलन या पीसीओएस से जुड़ी जांच करानी चाहिए।

ड्राई या फ्लेकी त्वचा

कहा जाता है कि ड्राई त्वचा का कारण थायरॉइड हो सकता है। हालांकि, कम पानी पीने से त्वचा का ड्राई या बेजान हो जाना सामान्य बात है। जितना हो सके उतना पानी पीने के अलावा मौसमी फल और सब्जियों का सेवन करें।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts