spot_img
Monday, June 17, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

Loksabha Election 2024 :  कानपुर-बुंदेलखंड और अवध के प्रत्याशियों को जिताने की रणनीति बताएंगे Amit Shah, PM Modi भी कर सकते हैं रोड शो!

Loksabha Election 2024 : गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah Kanpur Visit) कल कानपुर में रहेंगे। वे रात्रि प्रवास भी कर सकते हैं। रविवार को इटावा (Etawah) में जनसभा के बाद सीधे कानपुर आएंगे। वे करीब शाम 5 बजे कानपुर पुलिस लाइन हेलिपैड पर उतरेंगे। इसके बाद वो तिलकनगर स्थित होटल विजय विला में पार्टी के पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। कानपुर बुंदेलखंड क्षेत्रीय अध्यक्ष प्रकाश पाल ने बताया कि शाह चौथे चरण में होने वाले चुनाव की कानपुर बुंदेलखंड और अवध क्षेत्र की लोकसभा सीटों की बैठक लेंगे।

बैठक में क्षेत्रीय प्रभारी और क्षेत्रीय अध्यक्ष के साथ साथ क्लस्टर इंचार्ज, लोकसभा क्षेत्रों के चुनाव संचालन समिति में लोकसभा प्रभारी, संयोजक, बूथ प्रबंधन प्रमुख एवं जिलाध्यक्षगण रहेंगे। प्रकाश पाल ने बताया कि अमित शाह के प्रस्तावित कार्यक्रम व रात्रि विश्राम को देखते हुए निर्देशानुसार तैयारियां की जा रही हैं।

भाजपा में अंतरकलह खत्म करने पर जोर

अमित शाह मिश्रिख, फर्रुखाबाद, इटावा, कन्नौज, कानपुर नगर और अकबरपुर लोकसभा के प्रभारी एवं संयोजक, विधानसभा प्रभारी एवं संयोजक, जिलाध्यक्षों एवं वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक करेंगे। इसमें प्रत्याशियों के आने पर रोक लगाई गई है। अवध क्षेत्र के पदाधिकारी भी बैठक में शामिल होंगे।

वहीं भाजपा सूत्रों के मुताबिक कानपुर नगर और अकबरपुर सीट पर भाजपा में अंतरकलह तेजी से चल रही है। आलम ये है कि कई विधायक ही प्रत्याशियों को सपोर्ट नहीं दे रहे हैं। मंच पर आकर साथ दिखाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन क्षेत्र में किसी भी प्रकार का जनसमर्थन प्रत्याशी के पक्ष में नहीं जुटा रहे हैं।

प्रत्याशियों ने की अंतरकलह की शिकायत

सूत्रों के मुताबिक प्रत्याशियों ने भीतरघात को लेकर प्रदेश प्रभारी को सीधे शिकायत की थी। इसकी रिपोर्ट अमित शाह (Amit Shah) को भी सौंपी गई है। जिसके बाद खुद अमित शाह भीतरघातियों को कड़ा मैसेज देने के लिए कानपुर आ रहे हैं। वहीं अमित शाह के आने को लेकर कई नेता प्रत्याशियों (Loksabha Election 2024) के समर्थन में जुट गए हैं ताकि उनके सामने गलत मैसेज न जाए।

amit-shah-strategy-for-candidates-loksabha-election-2024-pm-modi-can-also-do-a-road-show

आपको बता दें कि बीते चुनाव में भी भीतरघात को लेकर अमित शाह को खुद कानपुर आना पड़ा था और बैठक करनी पड़ गई थी। जिसके बाद उन्होंने कई नेताओं को कड़ा मैसेज दिया था। इस बार भी कुछ ऐसी ही परिस्थितियां बन रहीं हैं। सूत्रों के मुताबिक अगर प्रत्याशी हारे तो पार्टी चुनाव बाद कड़ाई से भीतरघातियों से निपटेगी।

10 सालों में पहली बार रोड शो कर सकते पीएम मोदी

नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद कानपुर में बीते 10 सालों में पहली बार रोड शो कर सकते हैं। रोड शो के लिए रोड मैप भी तैयार किया जा रहा है। रोड शो के लिए ऐसा रूट देखा जा रहा है, जिसमें कानपुर नगर और अकबरपुर लोकसभा दोनों ही कवर होती हैं। भाजपा सूत्रों के मुताबिक 3 से 9 मई के बीच कार्यक्रम तय हो सकता है।

भीषण गर्मी को देखते हुए भाजपा इस बार जनसभा की बजाय रोड शो पर विचार कर रही है। वहीं रोड शो में ज्यादा से ज्यादा लोग जुटे और सेफ रूट हो, इस विचार किया जा रहा है। रोड शो शाम को किया जा सकता है। जनसभा के लिए कल्याणपुर के इंदिरा पार्क व किदवई नगर का रेलवे ग्राउंड देखा जा रहा है।

कांग्रेस हर बार करती है रोड शो

कानपुर में राहुल गांधी से लेकर प्रियंका गांधी तक रोड शो कर चुकी हैं। हाल ही में भारत जोड़ो यात्रा भी कानपुर में राहुल गांधी कर चुके हैं। ऐसे में भाजपा इस बार कांग्रेस के जवाब में रोड शो भी कर सकती है। रोड शो में उनके साथ मुख्यमंत्री भी शामिल हो सकते हैं। कानपुर में प्रधानमंत्री कानपुर मेट्रो के इनॉग्रेशन के मौके पर आए थे। उन्होंने किदवई नगर में जनसभा भी की थी। इसके बाद फरवरी- 2022 में प्रधानमंत्री ने कानपुर देहात के अकबरपुर में जनसभा विधानसभा चुनाव के दौरान की थी।

रोड शो कर बड़ा मैसेज देंगे प्रधानमंत्री

कानपुर नगर और अकबरपुर सीट पर मौजूदा समय में अंतरकलह काफी है। इसको लेकर एक तरफ जहां 28 अप्रैल को अमित शाह कानपुर में पदाधिकारियों के साथ बैठक करने आ रहे हैं। वहीं प्रधानमंत्री के चुनाव प्रचार में आने से दोनों ही प्रत्याशियों के पक्ष में माहौल बन जाएगा। इसको लेकर क्षेत्रीय कार्यालय से प्रधानमंत्री का कार्यक्रम मांगा गया है।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts