spot_img
Friday, April 19, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

Shamli में BKU का ट्रैक्टर मार्च, राष्ट्रपति के नाम सौंपा 14 सूत्रीय मांगो का ज्ञापन

Shamli BKU News : शामली भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) के आह्वान के बाद सैकड़ो किसान ट्रैक्टर मार्च (Kisan Tractor March) करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां उन्होंने जमकर नारेबाजी करते हुए देश के महामहिम राष्ट्रपति (President Draupadi Murmu) के नाम एक 14 सूत्रीय मांगो का ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।

इस दौरान भारतीय किसान यूनियन (BKU Tractor March) के पदाधिकारियो ने कहा कि सरकार किसानों के प्रति लगातार हठधार्मिकता का रवैया अपनाए हुए हैं। लेकिन किसान हर हाल में सरकार से अपना हक लेकर रहेंगे।

आपको बता दें कि बुधवार को भारतीय किसान यूनियन के आह्वान पर सैकड़ो किसान अपने-अपने ट्रैक्टरों में सवार होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहाँ किसानों को पुलिस द्वारा गेट पर रोकने का प्रयास किया गया। लेकिन किसानों ने पुलिस की एक नही सुनी और नारेबाजी करते हुए अपने-अपने ट्रैक्टर लेकर कलेक्ट्रेट में घुस गए। इसके बाद किसानों ने कलेक्ट्रेट परिसर में धरना प्रदर्शन (BKU Protest) किया और सरकार को जमकर घेरा।

BKU ने राष्ट्रपति के नाम 14 सूत्रीय मांगो का ज्ञापन DM को सौंपा

इस दौरान भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी ने कहा कि संगठन के शीर्ष नेतृत्व आवाहन के बाद यह ट्रैक्टर मार्च निकाला गया है। क्योंकि सरकार द्वारा लगातार किसानों के साथ वादा खिलाफी की जा रही है। जिससे किसान बेहद परेशान हो चुका है। जिसके चलते भारतीय किसान यूनियन द्वारा एक 14 सूत्रीय मांगो का ज्ञापन देश के राष्ट्रपति के नाम जिलाधिकारी रविंद्र कुमार को सौंपा गया।

BKU's tractor march in Shamli, memorandum of 14-point demands submitted to the President

ज्ञापन में एमएसपी सहित किसानों से जुडी अन्य मांगों को भी उठाया गया है। किसानों ने सरकार से अपनी सभी मांगों को जल्द से जल्द पूरा कराए जाने की मांग की है और मांगे पूरी न होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी भी दी है।

भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष का कहना है कि सरकार किसानों के साथ बार-बार वादा खिलाफी कर रही है और लगातार किसानों पर बढ़ते अत्याचार को देखते हुए किसान मजबूरन सड़कों पर उतर आया है।

किसानों को रोकने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाए

BKU's tractor march in Shamli, memorandum of 14-point demands submitted to the President

किसानो के साथ पंजाब में अत्याचार हो रहा है और हरियाणा सरकार भी किसानों को दिल्ली जाने से रोकने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाते हुए बॉर्डर पर कील ठोक रही है, दीवारें भी खड़ी कर रही है। मजबूर किसानों पर आशु गैस के गोले छोड़े जा रहे हैं। जिसके चलते भारतीय किसान यूनियन द्वारा शांतिपूर्वक प्रदर्शन किया जा रहा है।

किसान शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे

उन्होंने कहा कि भारतीय किसान यूनियन का एक-एक कार्यकर्ता बेहद शांति से हाई कमान के निर्देशों का पालन कर रहा है। अगर जिला प्रशासन द्वारा किसानों के साथ कुछ भी दुर्व्यवहार किया जाता है तो उसका जिम्मेदार जिले का प्रशासन होगा। क्योंकि वह प्रशासन से टकराव नहीं चाहते, और शांतिपूर्वक तरीके से धरना प्रदर्शन करना चाहते हैं।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts