spot_img
Wednesday, June 19, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

Kanpur Accident: अनियंत्रित कार ने 4 महिलाओं को रौंदा, एक ही परिवार की थी चारों, गांव में पसरा मातम

Kanpur Accident: उत्तर प्रदेश के कानपुर महाराजपुर थानाक्षेत्र स्थित चकेरी-प्रयागराज हाईवे पर हाथीपुर फ्लाईओवर के पास मंगलवार रात फतेहपुर से आ रही तेज रफ्तार कार ने सड़क पार कर रही किशोरी समेत चार महिलाओं को रौंद दिया। घटना के बाद तीन महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक महिला ने इलाज के दौरान दम तोड दिया।

प्रत्यक्षदर्शीयों के मुताबिक कार की चपेट में आकर महिलाएं करीब 200 मीटर तक घिसटती हुई चली गईं, जबकि कार अनियंत्रित होकर दो बार पलटी खाई। एक अन्य महिला गंभीर रूप से घायल है, जिसका हैलट अस्पताल में इलाज चल रहा है। हादसे की सूचना पर डीसीपी पूर्वी समेत कई थानों का फोर्स मौके पर पहुंचा और वहां स्थिति नियंत्रित की।

टक्कर मारने के बाद दो बार पलटी कार

श्याम नगर निवासी पूनम पांडेय (50) मंगलवार सुबह नीलवाली गली निवासी बेटी चंचल द्विवेदी (30) के साथ महाराजपुर थानाक्षेत्र निवासी बहन सरिता द्विवेदी (53) व रूपा तिवारी (38) के घर गई थीं। सरिता के पति जितेंद्र ने बताया कि शाम करीब साढ़े छह बजे पत्नी सरिता अपनी बेटी अपर्णा (17) व रूपा, पूनम और चंचल को कुछ दूर छोड़ने के लिए उनके साथ जा रहीं थीं।

वह चकेरी-प्रयागराज हाईवे पर रोड पार करने लगीं तभी फतेहपुर की ओर से आ रही तेज रफ्तार ईको कार ने सभी को जोरदार टक्कर (Kanpur Accident News) मार दी। कार की चपेट में आकर पूनम, सरिता, चंचल व रूपा करीब 200 मीटर दूर घिसटती हुई चली गईं। हाथीपुर फ्लाईओवर के पास कार अनियंत्रित होकर दो बार पलट गई। क्षेत्रीय लोग मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी।

मौत से परिवार में मचा कोहराम

पुलिस ने घायलों को कांशीराम अस्पताल में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने पूनम, रूपा व सरिता को मृत घोषित कर दिया। वहीं प्राथमिक उपचार के बाद चंचल व अपर्णा को हैलट रेफर कर दिया गया, जहां इलाज के दौरान चंचल की भी मौत हो गई। सूचना पर डीसीपी पूर्वी श्रवण कुमार समेत कई थानों का फोर्स व फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने कार जब्त कर घटनास्थल पर साक्ष्य संकलित किए। एक साथ चार लोगों की मौत की सूचना पर परिवार में कोहराम मच गया।

पूरे गांव में पसरा मातम

इस हादसे में के बाद हाथीपुर के पूरे गांव में मातम पसर गया। यहां रहने वाली दो सगी बहनों की हादसे में मौत हो गई। दोनों की शादी इसी गांव में अलग-अलग परिवार में हुई थी। हादसे के प्रत्यक्षदर्शी राजेंद्र के मुताबिक लगातार गुजर रहीं तेज रफ्तार गाड़ियों की वजह से सभी महिलाएं सड़क किनारे कुछ देर खड़ी रहीं। जब ट्रैफिक कुछ कम हुआ तो सभी ने एक साथ सड़क पार करने की कोशिश की। कानपुर-फतेहपुर लेन को पार कर जैसे ही उन्होंने फतेहपुर-कानपुर लेन पर दो कदम बढ़ाए, फतेहपुर की ओर से आ रही तेज रफ्तार ईको कार ने सभी को टक्कर मार दी।

हार्ट हुआ पंचर, फेफड़ा तक फट गया

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक मृतक सभी महिलाओं का हार्ट पंचर हो गया था। जबकि पसलियां और किडनी, कलेजा तक फट गया। सभी के हाथ पैर बुरी तरह टूट गए थे। पोस्टमार्टम के बाद एक-एक कर बॉडी बाहर लाई गई। ज्योति और सरिता की डेडबॉडी हाथीपुर गांव लेकर गए हैं। जबकि दिव्या की बॉडी बिरहाना रोड नील वाली गली और पूनम की डेडवॉडी परिजन श्याम नगर लेकर गए हैं। सभी का अंतिम संस्कार एक साथ ड्योढी घाट में अंतिम संस्कार किया जाएगा।

परिजनों ने इलाज न मिलने का लगाया आरोप

मृतक महिलाओं के रिश्तेदार शरद चंद्र पांडेय ने बताया- रात में काशीराम अस्पताल में सही इलाज मिल जाता तो बहन दिव्या जिंदा होती। करीब एक घंटे तक इलाज के लिए सरिता और दिव्या तड़पती रहीं। शरद ने बताया कि हम लोग मधुराज अस्पताल लेकर गए, लेकिन उन्होंने भर्ती करने से मना कर दिया। फिर हैलेट लेकर गए। एंबुलेंस तक नहीं मिली।

परिजन कर रहे गिरफ्तारी की मांग

परिजन आयुष मिश्र ने बताया- मेरी 2 मौसी, एक मामी और दीदी की डेथ हुई है। गाड़ी के हाई स्पीड में 20 चालान हुए हैं। गाड़ी मालिक का पता लगने के बाद भी पुलिस ने अभी तक एक भी गिरफ्तारी नहीं की है। इससे परिजनों में आक्रोश बढ़ रहा है।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts