- विज्ञापन -
Home Uttar Pradesh Kanpur Kanpur Dog Attack: आवारा कुत्तों ने 2 बच्चों पर किया हमला, एक...

Kanpur Dog Attack: आवारा कुत्तों ने 2 बच्चों पर किया हमला, एक की मौत, दूसरे की हालत गंभीर, लोगों में आक्रोश का माहौल

13
Kanpur Dog Attack: Stray dogs attacked two children, one died, the other was in critical condition, an atmosphere of anger among the people.

Kanpur Dog Attack: सोशल मीडिया पर आए दिन आवारा और पालतू कुत्तों द्वारा लोगों पर हमला करने के वीडियो वायरल होते हैं। कई बार इनके हमले से लोगों की मौत तक हो जाती है, जिसके बाद ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए शसन प्रशासन सख्त दिखाई देता है। इसके बाद इस प्रकार की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर का है, जहां गोविंदनगर की सीटीआई कच्ची बस्ती में घर के बाहर रात में मां के साथ सो रहे दो मासूमों पर आवारा कुत्तों ने हमला कर दिया।

- विज्ञापन -

गले पर हमले की वजह से पांच साल की बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, दो साल का बेटा अस्पताल में मौत से जंग लड़ रहा है। घटना के बाद परिजनों ने नगर निगम की अनदेखी और मुआवजे की मांग को लेकर करीब आधे घंटे तक दादानगर फ्लाईओवर जाम रखा, जिसके बाद पुलिस के समझाने पर मामला शांत हुआ।

घर के बाहर सोते समय कुत्तों के झुंड ने किया हमला (Kanpur Dog Attack News)

कच्ची बस्ती निवासी छोटू पार्टियों में वेटर का काम करता है और उसकी पत्नी पूजा कूड़ा बीनने का काम करती है। रविवार रात करीब साढ़े 12 बजे बड़ी बेटी खुशी (5) और दो साल का भोला घर के बाहर मां के साथ सो रहे थे। इसी दौरान आसपास मंडरा रहे कुत्तों के झुंड ने हमला बोल दिया। जब तक पूजा की चीख सुनकर छोटू व आस पड़ोस के लोग कुछ कर पाते, कुत्तों ने दोनों मासूमों के शरीर को नोंच डाला। कुत्तों को खदेड़कर परिजन आनन फानन दोनों को रतनलाल नगर स्थित एक निजी अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने खुशी को मृत घोषित कर दिया। वहीं, भोला की हालत गंभीर होने पर उसे हैलट रेफर कर दिया।

शव रखकर दादा नगर पुल किया जाम

मासूम की मौत के बाद परिजनों ने शव सड़क पर रखकर दादानगर फ्लाईओवर जाम कर दिया। इस दौरान लोग नगर निगम के रवैये को लेकर खासे नाराज थे। उनका आरोप था कि पहले भी कुछ लोगों को कुत्तों ने काटा था, लेकिन नगर निगम ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसी वजह से इतना बड़ा हादसा हो गया। वहीं हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने लोगों को समझाने का प्रयास किया। करीब आधे घंटे तक चले हंगामे के बाद पुलिस ने उन्हें समझाकर फ्लाईओवर को एक तरफ कर पुल पर आवागम शुरू कराया।

सिर से लेकर पैर तक कुत्तों ने नोंचा

छोटू और पूजा बच्चों के साथ दादा नगर पुल के नीचे अस्थायी घर बनाकर रहते हैं। रविवार रात गर्मी बहुत थी, इसलिए दोनों बच्चों के साथ पुल के नीचे खुले में सो रहे थे। रात में जब आवारा कुत्ते भाई-बहन को खींच ले गए और नोंचने लगे तो बच्चों की चीख सुनकर पूजा दौड़कर पहुंची और कुत्तों से भिड़ गई। चिल्लाकर आस-पास के लोगों को बुलाया। उसका पति छोटू और मोहल्ले के लोग भी डंडा लेकर पहुंचे गए। लोगों को देखकर कुत्ते बच्चों को छोड़कर भाग गए। लेकिन, दोनों बच्चों को सिर से लेकर पैर तक गंभीर चोटें आ चुकी थीं।

घटना के बाद 2 घंटे तक चला हंगामा

आक्रोशित परिजनों ने सैकड़ों की भीड़ के साथ सीटीआई से दादा नगर पुल को जाने वाले रास्ते पर जाम लगा दिया। लोगों ने कहा कि खुंखार कुत्तों की कई बार शिकायत की जा चुकी है, लेकिन नगर निगम कोई संज्ञान नहीं लेता है। महापौर प्रमिला पांडेय के मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। सूचना पर गोविंदनगर थाना प्रभारी प्रशांत मिश्रा और एसीपी बाबूपुरवा अमरनाथ यादव फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। परिजनों मुआवजे का आश्वासन दिया, जिसके 2 घंटे बाद यानी 2 बजे गोविंदनगर पुलिस ने सड़क का जाम खुलवाया और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया।

मीट की अवैध दुकानों की वजह से जुटते हैं कुत्ते

हंगामा कर रहे लोगों ने बताया कि बस्ती के नजदीक ही अवैध रूप से मीट की कई दुकानें चल रही हैं। इसी वजह से दुकानों के आसपास कुत्तों (Dog Attack two children in Kanpur) का जमावड़ा रहता है और अक्सर मीट को लेकर कुत्ते हमलावर रहते हैं। इसके बावजूद नगर निगम ने न तो कुत्तों को पकड़ना जरूरी समझा, न ही अवैध दुकानों का संचालन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करना जरूरी समझा।

कुत्तों को पकड़ने और अवैध मीट की दुकानों के खिलाफ कार्रवाई के लिए नगर निगम से पत्राचार किया जाएगा। परिजनों की तहरीर पर उचित कार्रवाई की जाएगी।
– अमरनाथ यादव, एसीपी बाबूपुरवा कानपुर कमिश्नरेट

- विज्ञापन -