spot_img
Monday, May 27, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

Hypothyroidism Symptoms: महसूस हो रही है ये दिक्कत तो हो जाएं सावधान, ये हैं संकेत

Hypothyroidism Symptoms: क्या आपके साथ भी अक्सर ऐसा होता है कि सुबह-सुबह थकान और सुस्ती रहती है तो ये एक बीमारी का संकेत है। अंडरएक्टिव थायराइड ये एक ऐसी स्थिति में होता है जिसमें आपकी थायरॉयड ग्रंथि कुछ महतवपूर्ण होर्मोनेस का पर्याप्त उत्पादन नहीं करती है। इसे हाइपोथायरायडिज्म भी कहा जाता है। हाइपोथायरायडिज्म (Hypothyroidism) की शुरुआती स्टेज में कोई भी लक्षण नजर नहीं आते लेकिन अगर समय के साथ इसका इलाज ना किया जाए तो इससे कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है, जैसे वेट गेन, जॉइंट्स पैन, इनफर्टिलिटी और हार्ट डिजीज। इसका एक संकेत है सुबह के समय काफी जयादा थकान महसूस होना, लेकिन समय रहते इसका इलाज करा लिया जाए तो खतरे से बच सकते हैं।

क्या होता है अंडरएक्टिव थायराइड? (Hypothyroidism Symptoms)

थायरॉयड ग्रंथि गर्दन में एक छोटी ग्रंथि होती है जो श्वासनली के सामने होती है। थायरॉयड ग्रंथि कई तरह के हार्मोन रिलीज करती है जो हमारे शरीर में कई तरह के कार्यों को कंट्रोल करने का काम करती है जैसे मेटाबोलिज्म। अंडरएक्टिव थायराइड के मामले में जिसे हाइपोथायरायडिज्म भी कहा जाता है, थायरॉयड हार्मोन की कमी होती है। आमतौर पर ये ऑटोइम्यून हाशिमोटो के थायरॉयडिटिस के कारण होता है, जो एक ऐसी बीमारी है जिसमें इम्यून सिस्टम खुद थायरॉयड ग्रंथि पर अटैक करता है। अगर इसका इलाज ना किया जाए तो हाइपोथायरायडिज्म ब्रेन, स्पाइनल कॉर्ड और बॉडी तक जानकारी पहुंचाने वाली नसों के कार्य में बाधा डाल सकता है।

यह भी पढ़ें : BENEFITS OF EATING DATES: कई बीमारियों से राहत दिलाता है खजूर, जानें इसके फायदे

हाइपोथायरायडिज्म के लक्षण

-थकान और सुस्ती

-कब्ज

-चाल का धीमा होना

-कंपकंपी

-वजन का बढ़ना

-डिप्रेशन

-भूख ज्यादा लगना

हाइपोथायरायडिज्म से होने वाली बीमारियां

हाइपोथायरायडिज्म के कारण सेहत से जुड़ी कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है जैसे- हार्ट रेट स्लो, आवाज का काफी मोटा होना, सुनने में दिक्कत, आइब्रो का काफी पतला और कम होना, चेहरे पर सूजन नजर आना। अगर समय रहते हाइपोथायरायडिज्म का इलाज ना किया जाए तो इससे आगे चलकर दिल से जुड़ी बीमारियों और हाई कोलेस्ट्रॉल का खतरा काफी ज्यादा बढ़ सकता है।

हाइपोथायरायडिज्म का इलाज (Hypothyroidism Symptoms)

हाइपोथायरायडिज्म की समस्या से निजात पाने के लिए जरूरी है कि आप रेगुलर अपना चेकअप करवाएं, खासतौर पर तब जब आपको अपने शरीर में ऊपर दिए गए लक्षणों में से कोई एक नजर आता है। आप थायरॉयड फंक्शन टेस्ट भी करवा सकते हैं जिसके जरिए thyroid-stimulating हॉर्मोन और थायरोक्सिन (T4) के लेवल को चेक किया जाता है। अगर आपका थायरॉयड का लेवल नॉर्मल रेंज से बहुत कम या बहुत ज्यादा आता है तो ट्रीटमेंट के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts