spot_img
Tuesday, July 9, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

हिल स्टेशन की भीड़ से बेहतर है ज्योलीकोट की वादियां, इसके सामने फेल है शिमला और मनाली

Jeolikote Destination: अगर आप शिमला और मनाली की भीड़-भाड़ से थक चुके हैं और किसी शांत जगह की तलाश में हैं, तो आपको नैनीताल के पास ज्योलीकोट को अपनी ट्रैवल बकेट लिस्ट में शामिल करना चाहिए। इस हिल स्टेशन के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। यह हिल स्टेशन नैनीताल से सिर्फ 21 किलोमीटर दूर है। आप यहां सड़क मार्ग से भी यात्रा कर सकते हैं। यहां की सड़कें बेहद खूबसूरत हैं। नैनीताल से ज्योलीकोट तक का सफर आप कभी नहीं भूल पाएंगे।

यहां के रास्ते में आपको प्रकृति की असली खूबसूरती देखने को मिलेगी। नैनीताल जिले के अंतर्गत आने वाला ज्योलीकोट अपनी खास जलवायु के लिए जाना जाता है। यहां दूर-दूर से पर्यटक शांति के पल बिताने आते हैं। एडवेंचर पसंद करने वालों के लिए यह जगह बेस्ट है। ज्योलीकोट में घूमने के लिए कई बेहतरीन डेस्टिनेशन हैं। आइए जानते हैं।

किलबरी बर्ड सैंक्चुरी, पंगोट

अलग-अलग पक्षियों को देखने के लिए यह जगह बेस्ट मानी जाती है। प्रकृति प्रेमियों के लिए यह किसी जन्नत से कम नहीं है। किलबरी बर्ड सैंक्चुरी में पक्षियों की कई दुर्लभ प्रजातियां हैं। यहां आप फोर्कटेल, व्हाइट-थ्रोटेड लाफिंगथ्रश, ब्राउन वुड आउल और कॉलरड ग्रोसबीक्स जैसे दुर्लभ पक्षियों को देख सकते हैं। इस अभयारण्य में पक्षियों की करीब 580 प्रजातियां हैं।

नैनी झील

नैनीताल झील, जिसे नैनी झील के नाम से भी जाना जाता है, ज्योलीकोट के पास प्रमुख पर्यटक आकर्षणों में से एक है। मीठे पानी की यह झील देश की सबसे ज्यादा देखी जाने वाली झीलों में से एक मानी जाती है। यहां परिवार के साथ जरूर जाना चाहिए।

कालाढूंगी

कालाढूंगी ज्योलीकोट से कम से कम 26 किमी की दूरी पर स्थित है। यह जगह अपने खूबसूरत झरनों के लिए भी जानी जाती है। यहां के अद्भुत नजारे पर्यटकों को दीवाना बना देते हैं। एक बार यहां आने के बाद आपका वापस जाने का मन नहीं करेगा।

मुक्तेश्वर

2285 मीटर की ऊंचाई पर स्थित हे मुक्तेश्वर जो नैनीताल जिले में ज्योलीकोट का एक और नजदीकी पर्यटक आकर्षण बन गया है। यहां मुक्तेश्वर धाम नाम का एक बहुत ही प्राचीन मंदिर है। इसके अलावा यह जगह सेनेसेंट के अद्भुत नजारों के लिए जानी जाती है। इस पहाड़ी की चोटी पर खड़े होकर आपको हिमालय के ऐसे नज़ारे दिखेंगे, जिन्हें देखने के बाद आप खुद की आँखों पर यकीन नहीं कर पाएँगे।

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क

यह भारत का सबसे पुराना नेशनल पार्क है। उत्तराखंड के नैनीताल जिले में स्थित यह पार्क भारत के लुप्तप्राय बंगाल टाइगर के लिए संरक्षित क्षेत्र के रूप में कार्य करता है। यह एक इकोटूरिज्म डेस्टिनेशन है। यहाँ आपको 488 अलग-अलग प्रजातियों के पौधे देखने को मिलेंगे। अगर आपको प्रकृति से प्यार है, तो यह आपके लिए एक परफेक्ट डेस्टिनेशन है।

ज्योलिकोट का मौसम कैसा है?

ज्योलिकोट का अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस तक ही जाता है। ऐसे में यहाँ आप दिल्ली की गर्मी से दूर कुछ अच्छे दिन बिता सकते हैं। यहाँ आप परिवार, पार्टनर या दोस्तों के साथ मौज-मस्ती भी कर सकते हैं। सोलो ट्रिप के लिए भी यह जगह बेस्ट है।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts