- विज्ञापन -
Home Lifestyle Teaching Children : बच्चे जब गलतियों पर डांटे नहीं बल्कि ऐसे करें...

Teaching Children : बच्चे जब गलतियों पर डांटे नहीं बल्कि ऐसे करें प्यार से डील

73

Teaching Children:  जिंदगी की राह पर चलते हुए हर बच्चे से कभी न कभी गलतियां हो ही जाती हैं। ये गलतियाँ उन्हें बड़ा और समझदार बनने की राह दिखाती हैं। यानी माता-पिता पर इन गलतियों को सही दिशा में सुधारने की बड़ी जिम्मेदारी है। हमें उन्हें सही और गलत का अंतर सिखाना होगा, ताकि वे न केवल अच्छे नागरिक बनें बल्कि अपने फैसले भी खुद ले सकें। आज हम उन तरीकों के बारे में बात करेंगे जिनसे हम बच्चों को उनकी गलतियों से सीखने में मदद कर सकते हैं, और वह भी बिना किसी नकारात्मक प्रभाव के।

- विज्ञापन -

समझाओ, डाँटो मत

जब बच्चे गलती करें तो उन्हें डांटने की बजाय प्यार से समझाएं। बताएं कि गलती कहां हुई और आगे चलकर वे इसे कैसे ठीक कर सकते हैं। इससे वे सीखेंगे और अपनी गलतियों से सुधार करेंगे।

हर गलती से सीखने का मौका

जब बच्चे गलती करें तो उन्हें प्रोत्साहित करें और सही रास्ता दिखाएं। उन्हें बताएं कि गलतियाँ हर कोई करता है, लेकिन सीखना और सुधार करना बुद्धिमानी है। इस प्रकार के सकारात्मक प्रोत्साहन से उनमें आत्मविश्वास पैदा होगा और वे अगली बार और बेहतर करने का प्रयास करेंगे।

उदाहरण के द्वारा नेतृत्व

बच्चों को बताएं कि हर महान व्यक्ति ने जीवन में गलतियां की हैं। उदाहरण के लिए, थॉमस एडिसन ने बल्ब बनाने से पहले हजारों गलतियाँ कीं, लेकिन हार नहीं मानी। उनकी गलतियों ने उन्हें सिखाया और अंततः उन्होंने सफलता हासिल की। इसी तरह आप भी अपनी गलतियों से सीख सकते हैं और बेहतर बन सकते हैं। हर गलती एक नई शुरुआत का अवसर प्रदान करती है। इसलिए अगर आपसे कोई गलती हो जाए तो निराश न हों बल्कि उससे सीखें और आगे बढ़ें।
धैर्य रखें
धैर्य बहुत जरूरी है। बच्चे रातोरात सब कुछ नहीं सीखते। उन्हें समय दें और जब वे थोड़ी भी प्रगति करें तो उनकी प्रशंसा करें। इससे उन्हें आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेगी।

बातचीत करें

बच्चों से हमेशा खुलकर बात करें। उन्हें बताएं कि गलतियाँ होना सामान्य बात है, लेकिन अधिक महत्वपूर्ण बात यह है कि हम उन गलतियों से क्या सीखते हैं और कैसे बेहतर बनते हैं। ऐसे संचार से बच्चे न केवल मजबूत बनते हैं बल्कि जीवन पथ पर सही दिशा में आगे भी बढ़ते हैं। इससे उनका आत्मविश्वास और बुद्धिमत्ता दोनों बढ़ती है।

- विज्ञापन -