spot_img
Saturday, June 22, 2024
-विज्ञापन-

More From Author

स्ट्रेस को करना है छुमंतर, तो बिस्तर पर ही करें ये योगासन

Yoga For Stress: आजकल कई स्थितियों और चीजों के कारण व्यक्ति तनाव महसूस होने लगता है। लेकिन इसका असर न सिर्फ हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर बल्कि हमारे व्यक्तित्व पर भी पड़ता है। जिसके कारण हमारा करियर और निजी जीवन भी प्रभावित होता है। इसलिए इस पर नियंत्रण रखना बहुत जरूरी है। जब हम तनाव में होते हैं तो शरीर कोर्टिसोल हार्मोन जारी करता है, जिसे तनाव हार्मोन भी कहा जाता है। जो आपको वास्तविक या काल्पनिक खतरे से निपटने या उससे बचने के लिए तैयार करता है। लेकिन अगर कोर्टिसोल का स्तर लंबे समय तक ऊंचा रहता है, तो इससे वजन बढ़ना, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर और डिप्रेशन जैसी गंभीर समस्याएं हो सकती हैं।

जब कोई व्यक्ति मानसिक रूप से तनावग्रस्त होता है तो उसका दिल तेजी से धड़कने लगता है और व्यक्ति का ब्लड प्रेशर भी बढ़ जाता है। यह आपके शरीर को तुरंत प्रतिक्रिया देने के लिए तैयार करता है। जब आपका डर दूर हो जाए और आप सुरक्षित महसूस करने लगें। लेकिन अगर तनाव से राहत न मिले तो यह प्रतिक्रिया जारी रहती है। अगर आपको बिना वजह बार-बार तनाव महसूस हो रहा है और इसके साथ अन्य समस्याएं भी हो रही हैं तो यह आपके शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है।

तनाव पर नियंत्रण रखना बहुत जरूरी है। इसके लिए ज्यादातर ध्यान लगाने की सलाह दी जाती है। लेकिन कई लोगों को ध्यान करने में परेशानी होती है या फिर वे एक जगह ध्यान केंद्रित नहीं कर पाते हैं। ऐसे में आप योग कर सकते हैं, इससे भी तनाव कम करने में मदद मिल सकती है। आज हम आपको एक आसान योगासन के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसका नाम विपरीत करनी योगासन है।

यह योगासन मन को शांत करने और तनाव कम करने में मददगार साबित हो सकता है। इसके अलावा ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ता है। खासतौर पर अगर सोने से पहले ऐसा किया जाए तो अच्छी नींद आती है और शरीर को आराम मिलता है।आइये जानते हे इस योग के बारे में।

विपरीत करनी योगासन करने का तरीका

इस आसन को करने के लिए दीवार की ओर मुंह करके बैठ जाएं। अब धीरे-धीरे पीठ के बल लेट जाएं और अपने दोनों पैरों को दीवार पर फैला लें। अपने कूल्हों को दीवार से सटाकर रखें। अपनी पीठ को फर्श या चटाई पर सीधा रखने की कोशिश करें। अब अपने दोनों हाथों को फैला लें। अब अपनी हथेलियों को ऊपर की ओर रखें। आप सहारे के लिए अपनी कमर या कूल्हों के नीचे तकिया भी रख सकते हैं। इस आसन को 5 मिनट तक या अपनी सुविधानुसार आजमाएं। ध्यान रखें कि आसान काम करने के लिए आप शांत वातावरण चुनें तो बेहतर होगा। इस आसन को खाली पेट या खाना खाने के दो से तीन घंटे बाद करें।

इस आसन को आप रात को सोने से कुछ देर पहले आराम से कर सकते हैं। ऐसा करना काफी आसान है। लेकिन जिन लोगों को हाई या लो ब्लड प्रेशर की समस्या है उन्हें यह आसन नहीं करना चाहिए। साथ ही जिन लोगों को पीठ या गर्दन से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या या मोतियाबिंद है उन्हें भी यह आसन करने से बचना चाहिए या किसी एक्सपर्ट की देखरेख में ही इसे करना चाहिए। वृद्ध या गर्भवती महिलाओं को यह आसन नहीं करना चाहिए।

Latest Posts

-विज्ञापन-

Latest Posts